श्री मद गुरुभ्यो नमः

श्री मद गुरुभ्यो नमः

Friday, August 13, 2010

सत्संगति का महत्त्व

सत्संगति का महत्त्व 
जाड्यं धियो हरति, sinchati वाचि सत्यम ,
मान-उन्नतिम दिशति पापं -अपाकरोति,
चेतः प्रसादयति , दिक्षु तनोति कीर्तिम ,
सत्संगतिः किं न करोति पुंसाम||

1 comment:

amitabh said...

वाह!वाह !
भूपेंद्र जी
Amitabh